Wednesday 12 January 2011

ये हैं हमारे भारत दुर्भाग्य विधाता !

                              आओ ,करें हम तिलक चन्दन से इन महान विभूतियों का वंदन /
                              जिसके हाथ में जो भी आए, उसी से करो इनका नागरिक अभिनन्दन /




                    हो सकता है! हमारे देश में आज के माहौल में  कुछ भी हो सकता है ! यह भी मुमकिन है कि इन्हें कोई शुभचिंतक  'भारत -रत्न ' भी दिला दे . आखिर हमारी भारत माता को ऐसे अनमोल रत्न आज और मिलेंगे भी  कहाँ ? इसलिए आइये और जल्द से जल्द कीजिए इनका  नागरिक अभिनन्दन . सर्वोत्तम अभिनन्दन पत्र लिखने वाले को मिलेगा एक लाख ७६  हज़ार करोड़  रूपए मूल्य की बधाइयों का शानदार ईनाम , याने कि टू-जी स्पेक्ट्रम मामले के बराबर कीमत की बधाइयां .उत्तम अभिनन्दन पत्र पर होगा पांच हज़ार करोड़ से आठ हज़ार करोड़ रूपए मूल्य के बराबर की बधाइयों का एक शानदार गिफ्ट हैम्पर ,याने कि कॉमन वेल्थ मामले की कीमत के बराबर का शानदार पुरस्कार . वैसे इन सभी  मामलों में क्या ,कैसा और कितना पुरस्कार  होना चाहिए , यह आप चाहें  तो स्वयं तय करके हमें सूचित करें . आपके सुझावों का स्वागत है.  अगर आप बताना चाहें तो यह भी  ज़रूर बताएं कि इनके  अभिनन्दन के लिए  आपकी शैली क्या होगी ? धन्यवाद .चित्र समाचार पत्रिका 'इंडिया -टुडे' के आज १२ जनवरी के आवरण पृष्ठ से साभार .

7 comments:

  1. सवाल पूछकर, सभी र्इनामों पर तो आपका ही हक मजबूत दिखाई पड़ रहा है.

    ReplyDelete
  2. जनतंत्र का राज है लूट सके तो लूट
    इनको कोई सजा नहीं ये जाएगें छूट
    ये जाएगें छूट खाएं निस दिन मलाई
    छोटे चिंदी चोर खाएगें जम के धुलाई
    कह"ललित"कविराय ये घोर है षड़यंत्र
    घोटाला श्री दिलाईए राज है जनतंत्र

    ReplyDelete
  3. saja dene ke inhe hain dhang hazar
    par sabse achchha hai maro joote char...

    ReplyDelete
  4. they should awarded new national award GHOTALARATN< GHOTALASHREE and GHOTALAVEER

    ReplyDelete
  5. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  6. हम जो सोचके बताएंगे वो उन्हें देगा कौन ?

    ReplyDelete