Thursday 12 August 2010

शैतानों ने बता दी अपनी जात

हमारी इस महान भारत भूमि पर अनेक ऐसी महान आत्माओं ने जन्म लिया , जिन्होंने जाति-धर्म के नाम पर समाज में होने वाले भेद -भाव के खिलाफ अपनी अनमोल वाणी से जनता को शिक्षित और जाग्रत करने की दिशा में ऐतिहासिक भूमिका निभायी . संत कबीर ने तो आज से लगभग छह सौ साल पहले कह दिया था --
                               जात न पूछो साधौ की ,पूछ लीजिये ज्ञान
                               मोल करो तलवार का ,पड़ी रहन दो म्यान .
  ज़रा समझदारी से देखा और समझा जाए तो छह सौ साल पुरानी दो पंक्तियों की इस अनमोल वाणी में हम जैसे साधारण मनुष्यों के लिए भी आत्म ज्ञान का महासागर हिलोरे मारता नज़र आएगा,लेकिन शायद यह हमारा दुर्भाग्य ही है कि छह सौ साल से इस अनमोल दोहे को पढ़ने-सुनने और गुनने के बावजूद हम समझदार नहीं हुए . अब हम एक-दूसरे की जात पूछेंगे और एक -दूसरे को जाति के नाम पर गिनेंगे . राष्ट्रीयता नहीं , जाति हमारी पहचान होगी .  लगभग सात दशक लम्बे अंतराल के बाद एक बार फिर हम जाति के नाम पर एक -दूसरे की गिनती लगाने जा रहें हैं .  अंग्रेजों के ज़माने में ,गुलामी के दिनों में  हमारे राष्ट्रीय नेताओं के प्रयासों से ख़त्म हो चुका   जनगणना में जाति पूछने का प्रावधान फिर ज़िंदा हो रहा है .
दरअसल संत कबीर ने जब यह कहा था कि साधुओं से उनकी जात न पूछ कर ज्ञान की बातें पूछो ,तब उस ज़माने में साधुओं की संख्या ज्यादा  हुआ करती थी और  कबीर की  सामाजिक समरसता वाली नज़रों में  मनुष्य केवल मनुष्य था , वे मनुष्य को भी साधू मानते और उससे जात न पूछ कर ज्ञान की बातें पूछने पर जोर देते थे . वह साधुओं का ज़माना था , आज शैतानों का ज़माना है , इसलिए अब साधुओं से भी उनकी जात पूछी जाएगी .शैतानों ने अपनी जात जो बता दी है.  जय हिंद .   -
                                                                                                                                            स्वराज्य करुण

1 comment:

  1. prajatantra me, vartman paristhitiyon k liye, jitne doshi neta hain, utni doshi janta bhi hai.Election jeetne k liye jyada votes milna jaruri hai.PRAYAH SAMAJ ME SAMAJHDAAR AADMI ADHIK SE ADHIK 20 PERCENT HONGE, CHUNAV 20 PERCENT LOG TO NAHI JEETA SAKTE, 80 PERCENT NASAMAJH LOG HI JITAYENGE. ISLIYE NETA KO APNA ASTITVA BACHANE K LIYE MURKHON KA PAKSH TO LENA HI PADTA HAI, varna wo power me nahi rahega. haan, par neta ka ye dayitva to hota hi hai ki wo janmaanas ko sahi disha dikhaye aur desh ko vikas ki or le chale kunki JANTA TO SABHI YUG ME PICHHDI HUI RAHTI HAI, PAR MARGDARSHAN ELITE VARG YA NETRITVA KARNE WALA VARG HI DETA HAI. Isliye kisi bhi rashtra ki achchhi-buri sthiti k liye neta ki jimmedari jyada hai.

    ReplyDelete